शेयर मार्किट क्या है | What is Share Market

What is Share Market – शेयर मार्किट क्या है। और वहा क्या होता है। आज के इस Topic में हम शेयर बाज़ार(Share Market) के बारे में कुछ Basic जानकारी लेंगे।

इस दुनिया में पैसे कमाना कौन नहीं चाहता | पैसा हर इंसान के जरूरतों को पूरा करने के लिए बहुत ही जरुरी है |

अगर हमारे पास पैसा है तो ही हम अपने सपने को पूरा कर सकते हैं और पैसे के बिना हमारा सपना सपना बन कर ही रह जायेगा |

इसलिए आज दुनिया में सभी लोग पैसे को ज्यादा अहमियत देते हैं क्यूंकि पैसा है तभी आपके पास इज्ज़त, दौलत, घर, रिश्तेदार, दोस्त ये सब कुछ है |

दुनिया में पैसे कमाने का जरिया बहुत है, कुछ लोग job करके पैसे कमाते हैं तो कुछ लोग व्यापर यानि business करके पैसे कमाते हैं और कुछ लोग ऐसे भी हैं जो अपने पैसे दाव पर लगा कर ढेर सारे पैसे कमाते हैं |

पर ये लोग अपने पैसे कौन सी जगह पर दाव पर लगाते हैं, ऐसी कौन सी जगह है की जहाँ अपने पैसे दाव पर लगाने के बाद भी लोगों को मुनाफा होता है? वो जगह है Share Market यानि शेयर बाज़ार |

Share Bazar in Hindi के बारे में सभी ने सुना होगा मगर वहां क्या होता है इसका ज्ञान सभी को नहीं है | इसलिए आज मै आपको शेयर मार्किट क्या होता है और basic knowledge of share market के बारे में बताने जा रहा हूँ |


शेयर मार्किट क्या है  ? – What is Share Market ?

Share Market और Stock Market एक ऐसा Market है जहाँ बहुत से Companies के Shares ख़रीदे और बेचे जाते हैं |

ये एक ऐसी जगह है जहाँ कुछ लोग या तो बहुत पैसे कमा लेते हैं या तो अपने सारे पैसे गवा देते हैं | किसी कंपनी का Share खरीदने का मतलब है उस कंपनी में हिस्सेदार बन जाना |

आप जितने पैसे लगायेंगे उसी के हिसाब से कुछ प्रतिशत के मालिक आप उस कंपनी के हो जाते हैं |

जिसका मतलब ये है की अगर उस कंपनी को भविष्य में मुनाफा होगा तो आपके लगाये हुए पैसे से दुगना पैसा आपको मिलेगा और अगर घाटा हुआ तो आपको एक भी पैसे नहीं मिलेंगे यानि की आपको पूरी तरह से नुकसान होगा |

जिस तरह Share Market में पैसे बनाना आसान है ठीक उसी तरह यहाँ पैसे गवाना भी उतना ही आसान है क्यूंकि Stock Market में उतार चढ़ाव होते रहते हैं |

Initial Public Offering ( IPO ) – आईपीओ क्या है।

शेयर बाज़ार में शेयर कब खरीदें ? – When to Buy Shares in the Stock Market ?

आपको थोडा बहुत idea मिल गया होगा के शेयर मार्केट क्या है | चलिए जान लेते है How to invest in share market ?

Stock Market में Share खरीदने से पहले आप इस लाइन में पहले Experience gain कर लें की यहाँ कैसे और कब Invest करना चाहिये | और कैसी कंपनी में आप अपने पैसे लगायेंगे तब जा कर आपको मुनाफा होगा |

इन सब चीजों का पता लगायें ज्ञान बटोरे उसके बाद ही जा कर Share Market में निवेश करें |

Share Market में कौन सी कंपनी का Share बढ़ा या गिरा इसका पता लगाने के लिए आप Economic Times जैसे Newspaper पढ़ सकते हैं या फिर NDTV Business न्यूज़ चैनल भी देख सकते हैं |

जहाँ से आपको Share Market की पूरी जानकारी मिल जाएगी |

ये जगह बहुत ही Risk से भरी हुयी होती है इसलिए यहाँ तभी निवेश करना चाहिये जब आपकी आर्थिक स्तिथि ठीक हो ताकी जब आपको घाटा हो तो आपको उस घाटे से ज्यादा फर्क ना पड़े |

या तो फिर आप ऐसा भी कर सकते हैं की शुरुआत में आप Share Market में थोड़े से पैसे से निवेश करें ताकि आगे जाकर आपको ज्यादा झटका ना लगे |

जैसे जैसे आपका इस Field में Knowledge और Experience बढेगा वैसे वैसे आप धीरे धीरे अपने निवेश को बढ़ा सकते हैं

Share market में निवेश करने से पहले आप इस Market के बारे में अधिक जानकारी जरुर लें वरना इस Market में धोके भी बहुत मिलते हैं |

कई बार ऐसा होता है कुछ कंपनी Fraud होती हैं और अगर आप उस कंपनी के Shares को खरीद कर अपने पैसे लगाते हैं तो ऐसे कंपनी सबके पैसे ले कर भाग जाते हैं |

और फिर आपके लगाये हुए सारे पैसे डूब जाते हैं | इसलिए किसी भी कंपनी के Shares को खरीदने से पहले उसके background के details को अच्छे से जरुर check कर लें |

How Does The Stock Market Work – शेयर बाजार कैसे काम करता है।

शेयर मार्किट में पैसे कैसे लगाये ? – How to Invest in the Stock Market ?

शेयर मार्किट में Share खरीदने के लिए आपको एक Demat account बनाना होता हैं | इसके भी दो तरीके हैं, पहला तरीका तो आप एक broker यानि की दलाल के पास जाकर एक Demat account खोल सकते हैं |

Demat account में हमारे Share के पैसे रखे जाते हैं जिस तरह की हम किसी Bank के खाते में अपना पैसा रखते हैं ठीक उसी तरह |

अगर आप Share Market में निवेश कर रहे हैं तो आपका Demat account होना बहुत ही जरुरी है|

क्यूंकि कंपनी को मुनाफा होने के बाद आपको जितने पैसे मिलेंगे वो सारे पैसे आपके Demat account में जायेंगे ना की आपके Bank account में और Demat account आपके Savings account के साथ लिंक हो कर रहता है अगर आप चाहे तो उस Demat account से अपने Bank account में बाद में धन राशी(Money) Transfer कर सकते हैं

ये जो brokers होते हैं वो Stock exchange के सदस्य होते हैं हम सिर्फ उनके जरिये ही Stock exchange में ट्रेडिंग कर सकते हैं | हम सीधे Stock market में जा कर कोई भी share खरीद या बेच नहीं सकते |

Support Level क्या होता है? – What is Support Level ?

Support, या support level, उस Price level को Refer करता है जिसके नीचे Asset की Price का गिरना सबसे कम होता है उस समय में |

किसी भी Asset का Support level create किया जाता है Buyers (खरीदार) के द्वारा जो की Market में Enter कर रहे होते हैं जब भी Asset एक Lower price में चला जाता है |

How to Learn Share Market – शेयर मार्केट कैसे सीखे।

Support level कैसे बनाया जाता है? – How is support level created ?

Technical analysis की बात करें तब, सबसे Simple Support Level को Chart करने के लिए एक Line Draw किया जाता है Asset के सभी Lowest Lows को ध्यान में रखकर उस Time Period के दौरान |

ये Support Line या तो Flat होती है या फिर Slanted up या down भी हो सकती है Overall Price Trend के हिसाब से |

वहीँ दुसरे Technical Indicators और Charting Techniques का इस्तमाल भी किया जाता है ज्यादा Advanced versions के Support Level को Identify करने के लिए |

Resistance Level क्या होता है ? What is Resistance Level ?

Resistance या Resistance level एक ऐसा Price point होता है जहाँ की Asset की Price Rise में रुकावट दिखाई पड़ती है क्यूंकि एकदम से बहुत सारे Sellers अपने Asset को उसी Price में बेचना चाहते हैं |

Price Action पर निर्भर करता है की, Resistance की line, Flat हो या Slanted हो | वहीँ ऐसे बहुत से Advanced Techniques हैं Resistance Incorporating Bands, Trendlines और Moving Averages को Identify करने के लिए |

Securities Market in Hindi – सिक्योरिटी मार्केट को हिंदी में समझें।

Support Level और Resistance Level में क्या अंतर होता है ? What is the difference between Support Level and Resistance Level ?

Support और Resistance किसी स्टॉक (Stock) के Chart में, दो अलग अलग प्राइस पॉइंट्स (Price Points) होते है | जिनके विषय में जानना बहुत ही जरुरी होता है |

Support Level Calculation :

चलिए अब Support Price के बारे में जानते हैं | Support Price चार्ट का वो Price Point होता है, जहाँ से आगे Seller के मुकाबले Buyers की संख्या ज्यादा होने की सम्भावना होती है |

और इसलिए स्टॉक का भाव (Stock Price) Support price point से ऊपर की तरफ चढ़ने की संभावना होती है |

वहीँ दूसरी तरफ, Resistance Price चार्ट का वो Price point होता है, जहा से आगे Buyers के मुकाबले Seller की संख्या ज्यादा होने की सम्भावना होती है |

और इसलिए स्टॉक का भाव (Stock Price) Resistance price point से नीचे की तरफ गिरने की संभावना होती है |




Leave a Comment