When do Stock Prices Fluctuates? – स्टॉक की कीमतों में उतार-चढ़ाव कब होता है?

Stock Prices Fluctuate – शेयर मार्किट के बढ़ने और घटने के पीछे जो मुख्य कारण हो वो होता है मांग(Demand) और आपूर्ति(Supply) की।

मांग(Demand) और आपूर्ति(Supply)

आपको मार्किट में दो प्रकार के लोग देखने को मिलेंगे, लेकिन इन दोनों के मत अलग अलग होते हैं।
कुछ लोग सोचते हैं की मार्किट बढेगा और वहीँ कुछ लोग सोचते हैं की मार्किट घटेगा।

शेयर मार्किट क्या है | What is Share Market

इसे समझने के लिए दो चीज़ों को समझना बहुत ही आवश्यक होता है।

1.अगर डिमांड बढ़ जाता है या सप्लाई से ज्यादा हो जाता है। ऐसे में प्राइस या कीमत में बढ़ोतरी होती है।

2. वही अगर डिमांड से सप्लाई बढ़ जाती है। ऐसे में प्राइस या कीमत में घटोतरी नजर आती है।

शेयर बाजार कैसे काम करता है – How Does The Stock Market Work

चलिए एक उदाहरण से इसे बेहतर तरीके से समझते हैं।

मान लीजिये की SBI ने अपनी फाइनेंशियल रिजल्ट(Financial Result) की घोषणा की और उनकी निवल लाभ सीमा(Net Profit Margin) करीब 100% बढ़ जाती है। ये प्रदर्शन(Performance) असल में काफी अच्छी है उम्मीद से।

वहीँ, आप और हम जैसे लोगों को ये मालूम पड़ता है की SBI के शेयर्स(Shares) काफी अच्छा प्रदर्शन(Perform) कर रहे हैं, वहीं अगर आप SBI में निवेश(Invest) करते हैं तब आपको अच्छे परिणाम देखने को मिलेंगे।

चलिए मान लें की SBI स्टॉक प्राइस(Stock Price) अभी है। Rs.250. अब आप अब बोली(Bid) करेंगे 100 शेयर्स(Shares) पर वो भी Rs.250 में लेकिन अब कोई भी आपको ये शेयर बेचना नहीं चाहता है।

क्यूंकि सभी को लगता है की आगे चलकर SBI स्टोक प्राइस और ज्यादा बढ़ने वाली है।

ऐसे में आप SBI शेयर को खरीदने के लिए उसकी खरीदारी कीमत को बढ़ा देते हैं। वो भी Rs.255 तब भी कोई तैयार नहीं होते हैं।

इसे बेचने के लिए, ऐसे में मांग(Demand ) ज्यादा है आपूर्ति(Supply) से इसलिए इसकी कीमत बढ़कर अब Rs.260 हो गयी।

आप इस कीमत में भी खरीदना चाहते हैं और अब कोई आपको बेचना चाहता है Rs.260 की कीमत में। आपको इसमें नज़र आएगी की जहाँ पहले स्टॉक प्राइस केवल Rs.250 थी वो अब बढ़कर 260 में पहुँच गयी है।

ठीक ऐसे ही जब सभी को लगता है की कंपनी ठीक से प्रदर्शन(Perform) नहीं कर रही है।

तब अपने आप ही स्टॉक प्राइस (stock price) घट जाती है, जिसमें की ज्यादा शेयर धारक(share holder) अपने शेयर को बेचना चाहते हैं।

वहीँ कोई उसे खरीदना नहीं चाहते हैं जिससे शेयर प्राइस में गिरावट देखने को मिलती है।

आप असल में निराशावादियों(Pessimists) से खरीदते हैं और आशावादी(Optimists) को बेचते हैं।

वहीँ ठीक ऐसे ही या यही कारण है की शेयर की कीमत में उतार-चढ़ाव (Stock Price Fluctuate) होता है।

Initial Public Offering ( IPO ) – आईपीओ क्या है।

Leave a Comment